प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को क्यों मिल रहा है अवॉर्ड,क्या है ‘चैंपियन ऑफ द अर्थ’ अवॉर्ड,   

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संयुक्त राष्ट्र के सबसे बड़े पर्यावरण सम्मान ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ’ से नवाजा गया है। यह सम्मान उन्हें पॉलिसी लीडरशिप कैटिगरी में दिया गया है। पीएम मोदी के अलावा ये सम्मान फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों को भी मिला है। दोनों को यह सम्मान इंटरनेशनल सोलर अलायंस और पर्यावरण के मोर्चे पर कई महत्वपूर्ण कार्यों के लिए दिया गया है।

पर्यावरण के सबसे बड़े सम्मान के रूप में दिए जाने वाले इस पुरस्कार को साल 2005 में लांच किया गया था। यह पुरस्कार पर्यावरण के क्षेत्र में असाधारण उपलब्धियों के लिए व्यक्ति और संगठनों को दिया जाता है। वैश्विक पर्यावरण की दृष्टि से लोगों को प्रेरित करने के लिए जो व्यक्ति राजनीतिक नेतृत्व के तहत काम करते हैं, जमीनी कार्रवाई करते हैं या फिर वैज्ञानिक नवाचार के माध्यम से काम करते हैं, वह इस सम्मान को पाने के हकदार होते हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को  क्यों मिल रहा है अवॉर्ड,क्या है 'चैंपियन ऑफ द अर्थ' अवॉर्ड,   

चैंपियंस ऑफ द अर्थ निम्न श्रेणियों में विजेताओं को दिया जाता है-

लाइफटाइम अचीवमेंट, पॉलिसी लीडरशिप, कार्य और प्रेरणा, उद्यमी दृष्टि, विज्ञान और नवाचार।

इस साल संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से ये सम्मान विभिन्न श्रेणियों में 6 लोगों और संस्थाओं को दिया गया है। जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, इमैनुअल मैक्रों, जोआन कार्लिंग, चीन का जिनजिआंग ग्रीन रूरल प्रोग्राम, कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा और बियोंड मीट एवं इंपोसिबल फूड्स के नाम शामिल हैं। संयुक्त राष्ट्र की ओर से कहा गया है कि ये लोग बेहतर भविष्य के लिए आज को बदल रहे हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को  क्यों मिल रहा है अवॉर्ड,क्या है 'चैंपियन ऑफ द अर्थ' अवॉर्ड,   
पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों

संयुक्त राष्ट्र ने बताया कि फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों को पर्यावरण के लिए वैश्विक समझौते करने और पीएम मोदी को 2022 तक प्लास्टिक का इस्तेमाल पूरी तरह खत्म करने की शपथ के लिए इस सम्मान से नवाजा गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को  क्यों मिल रहा है अवॉर्ड,क्या है 'चैंपियन ऑफ द अर्थ' अवॉर्ड,   

भारत के कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को अवॉर्ड

भारत के लिए यह बहुत बड़े सम्मान की बात है कि पीएम मोदी के अलावा कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को भी इस सम्मान से नवाजा गया है। हवाई अड्डे को सस्टेनेबल एनर्जी (नवीकरणीय ऊर्जा) की दिशा में आगे बढ़ते हुए उद्यमी दृष्टि दिखाने के लिए पुरस्कार से नवाजा गया है। यह हवाई अड्डा दुनिया को बताने का काम कर रहा है कि हमारे वैश्विक आंदोलन के सतत विस्तार नेटवर्क से पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचना चाहिए।

हवाई अड्डे के बारे में कहा गया है कि समाज की गति में लगातार वृद्धि हो रही है, ऐसे समय में दुनिया का पहला पूर्ण संचालित हवाई अड्डा इस बात का सबूत है कि ग्रीन बिजनेस ही अच्छा बिजनेस है।

जिनजिआंग ग्रीन रूरल प्रोग्राम

चीन के जिनजिआंग ग्रीन रूरल प्रोग्राम को भी पुरस्कार से नवाजा गया है। प्रोग्राम को पूर्वी चीन स्थित बेहद गंदी नदी को साफ करने के लिए ये सम्मान दिया गया है।
बियोंड मीट और इंपोसिबल फूड्स
बियोंड मीट और इंपोसिबल फूड्स को विज्ञान और नवाचार की श्रेणी में संयुक्त रूप से सम्मानित किया गया है।
जोआन कर्लिंग
फिलीपींस की अधिकार कार्यकर्ता और पर्यावरण संरक्षक जोआन कर्लिंग को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड श्रेणी के अंतर्गत सम्मानित किया गया है। वह अधिकारों और पर्यावरण के लिए 20 सालों से काम कर रही हैं। पर्यावरण के लिए उनकी अथक और निस्संदेह लड़ाई ने उन्हें दुनिया भर के लोगों और समुदायों के लिए एक चैंपियन बना दिया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper