लखनऊ शूटआउट: विवेक के घर पहुंचे केशव मौर्य की केजरीवाल को नसीहत- इस घटना पर राजनीति न करें

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ऐपल कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर का आज अंतिम संस्कार किया गया. लखनऊ में जिस जगह विवेक का अंतिम संस्कार हुआ वहां पर राज्य सरकार के मंत्री बृजेश पाठक और आशुतोष टंडन भी पहुंचे. इस दौरान दोनों ही मंत्रियों को विवेक तिवारी के परिजनों के गुस्से का शिकार होना पड़ा. हालांकि बृजेश पाठक ने विवेक तिवारी के परिजनों को हर संभव मदद का भरोसा दिया है.

दोपहर बाद उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी विवेक तिवारी के घर पहुंचे. उन्होंने पीड़ित परिवार से मिलकर घटना पर शोक जाहिर किया. डिप्टी सीएम ने कहा कि सरकार इस घटना से दुखी है और पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है. उन्होंने कहा इस मामले में फौरन सख्त कार्रवाई की गई ताकि ऐसी घटना फिर से न हो. इसके साथ ही उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी नसीहत देते हुए कहा कि इस घटना पर राजनीति न करें. उसके लिए और भी मुद्दे हैं.

वहीं बृजेश पाठक ने कहा कि दोषियों को इस मामले में कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी. विवेक तिवारी की पत्नी लगातार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की बात कर रहीं हैं. इस पर उन्होंने कहा कि वो उनकी मुलाकात मुख्यमंत्री से करवाएंगे. बृजेश पाठक ने कहा कि सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है. इस घटना से हम सभी दुखी है. योगी सरकार में मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक में कराने की कोशिश करेंगे.

इधर एडीजी लखनऊ राजीव कृष्ण ने कहा है कि विवेक तिवारी के परिवार को 24 घंटे पुलिस सुरक्षा दी जाएगी. उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि अगर परिवार चाहेगा तो सीबीआई से जांच कराई जाएगी. राजीव ने कहा कि यह बेहद गंभीर घटना है. इस मामले में ऐसी सख्त कार्रवाई की जाएगी कि फिर दोबारा ऐसी कोई घटना न हो.

इस बीच हत्याकांड की जांच के लिए लखनऊ आईजी सुजीत पांडेय की अगुवाई में बनाई गई एसआईटी ने मौका-ए-वारदार पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी है.

‘1 करोड़ मुआवजा मिले’

सरकार के 25 लाख के मुआवजे के ऐलान पर विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी ने ‘आज तक’ से कहा कि 25 लाख मुआवजा कम है. हमें 1 करोड़ मुआवजा चाहिए. कल्पना ने कहा कि परिवार में कमाने वाले विवेक इकलौते थे. मुझे बच्चों के भविष्य की चिंता हो रही है.

उन्होंने कहा मुझे न्याय चाहिए. मेरी मुलाकात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कराई जाए.मैं अपना दर्द उनको बताऊंगी. कल्पना और उनका परिवार इस पूरे हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने को लेकर अड़ा है.

वहीं मृतक विवेक तिवारी का भाई आज एसपी से मिलकर एफआईआर करेगा. इस पूरे मामले की जांच एसआईटी सोमवार से शुरू करेगी और जल्द इसकी रिपोर्ट सौंप सकती है.

Related Articles

Back to top button
E-Paper