सीएम और राज्यपाल की कलाई भी नहीं रही सूनी, पूरे प्रदेश में मना त्यौहार

cm1लखनऊ। भाई बहन के बीच प्रेम के प्रतीक के रुप में रक्षाबंधन का त्यौहार आज समूचे उत्तर प्रदेश में धूमधाम के साथ मनाया गया। सूबे के राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी इस अवसर पर राखियां बधवाई। राज्यपाल राम नाईक ने राजभवन में राखी का त्यौहार मनाया। उन्होंने नवयुग रेडियंस की छात्राओं से राखी बंधवाई। इसके बाद ब्रहमकुमारीज संस्था की बहनों ने राज्यपाल को राखी बांधी। बेगम हजरत महल संस्था की प्रमुख फरहाना मालिकी भी रक्षाबंधन के अवसर पर राम नाईक को राखी बांधने राजभवन पहुंचीं। इस अवसर पर राज्यपाल ने प्रदेशवासियों को रक्षाबंधन पर्व की बधाई दी। उन्होंने कहा है कि रक्षाबन्धन का पर्व परस्पर प्रेम को बढ़ाने और महिलाओं के प्रति सम्मान व्यक्त करने और उनकी सुरक्षा के लिये प्रेरित करता है। श्री नाईक ने कहा कि इस प्रकार के पर्व देश की सांस्कृतिक एकता को भी मजबूत करते हैं। समाज के सभी लोगों को रक्षासूत्र के इस मानवीय पर्व की मर्यादा को बनाये रखने की शपथ लेनी होगी।

cm12वही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रक्षाबंधन के मौके पर अपने सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पर विभिन्न समुदाय की बहनों से राखी बंधवाई। श्री यादव ने उन्हें उपहार भेंट किए। सुश्री सरिता शर्मा एवं ब्रह्मकुमारी सुश्री राधा बहन ने भी इस मौके पर मुख्यमंत्री को राखी बांधी।  इस अवसर पर अखिलेश यादव ने कहा कि रक्षाबंधन पर्व का यह संदेश है कि आपसी भाईचारा बढ़े और समाज में खाई पैदा करने वाली ताकतों का खात्मा हो। इस पर्व में भाई की कलाई पर जब राखी बांधी जाती है तो वह बहन की रक्षा का संकल्प लेता है। उन्होंने रक्षाबंधन को एक अनूठा पर्व बताते हुए कहा कि ऐसा त्यौहार दुनिया के अन्य किसी देश में नहीं मनाया जाता, जिसमें बहन भाई को राखी बांधती है। यह त्यौहार देश की प्राचीन परम्परा का हिस्सा है।

सीएम  ने पहलवान साक्षी को दी बधाई –

मुख्यमंत्री ने रियो ओलम्पिक-2016 में कुश्ती में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक को बधाई देते हुए उन्हें रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की। श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए लगातार कार्य कर रही है तथा खिलाड़ियों को अनेक प्रकार सुविधाएं भी मुहैया करा रही है।

download (1)ब्रेसलेट के जैसी राखियों की रही भरमार –

 रक्षाबंधन के अवसर पर इस बार बहनों ने सोने और चांदी की राखियों की भी खरीदारी की है। सोने और चांदी की बनी ये राखियां ब्रेसलेट के जैसी हैं। बहने अपने भाईयों को इन विशेष राखियों को इस विचार के साथ बांधा ताकि वे इन्हें पूरे साल तक अपने हाथों में पहने रहें।

बसों की संचालन व्यवस्था भी रही दुरस्त –

उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम ने भी रक्षाबंधन पर्व के अवसर पर अतिरिक्त बसों के संचालन की व्यवस्था की है। राजधानी लखनऊ के चारबाग और कैसरबाग बस स्टैंड से रक्षाबंधन स्पेशल के रूप में साधारण बसों के अलावा वॉल्वो और शताब्दी जैसी बसों को भी दिल्ली तक चलाई जा रही हैं। ये बसें 21 अगस्त तक चलेंगी।

 

Related Articles

Back to top button
E-Paper