हमें गधों के बारे में नहीं जानना, केवल काम की बात करना चाहते: अखिलेश

बहराइच। समाजवादी पार्टी  के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार फिर गुजरात के गधों के विज्ञापन का मुद्दा उठाया।

उन्होंने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को हमारे गधों के बारे में नहीं पता है।

अखिलेश ने कहा कि हमें गधों के बारे में जानना ही नहीं है। हम केवल काम की बात करना चाहते हैं। 

सपा अध्यक्ष ने यहां अपनी चुनावी सभा में एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पीएम बनारस गए और कहा कि हमें गंगा मैय्या ने बुलाया है।

बिजली पर उन्होंने न जाने क्या कह दिया। हमने उन्हें आंकड़े दिए तो अब उलझ गए हैं। अखिलेश ने कहा कि हम कहते हैं कि जब गंगा मैय्या ने उन्हें बुलाया तो वह वह गंगा मैय्या की कसम खाएं कि हमने उनके संसदीय क्षेत्र में चौबीस घण्टे बिजली दी है कि नहीं?

सपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री कल यहां आने वाले हैं। बहराइच में तो शेर भी हैं, चीता भी दिखता होगा। इसके अलावा कर्तनिया घाट में घड़ियाल भी हैं।

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने डिजिटल इण्डिया का नारा दिया और कहा कि मोबाइल से बैंक चला लो। उन्हें नहीं पता था कि अभी हमारे युवा मोबाइल में केवल गाने सुन पाते हैं, बैंक नहीं चलाते हैं। अखिलेश ने कहा कि अगर आपके मोबाइल से बैंक चल सकती है तो हमारे बांटे समाजवादी लैपटॉप से भी चल सकती है।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा के पास कोई काम की बात नहीं है। उन्होंने धोखा दिया। अच्छे दिन के चक्कर में गुमराह किया। उन्होंने कहा कि नोटबन्दी के बाद भी केन्द्र सरकार के पास न भ्रष्टाचार का और न कालेधन का आंकड़ा है। प्रधानमंत्री केवल मन की बात करने में लगे हैं, काम की बात नहीं।

केन्द्र ने एक काम नहीं किया, जबकि हमने एम्बुलेंस दी, सड़क दी, पुलिस का 100 नम्बर दिया, बिजली के इंतजाम किये, लोहिया आवास, लोहिया ग्राम दिये।

उन्होंने कहा कि बहराइच में 100 बेड का अस्पताल नहीं 300 बेड का बनकर तैयार होने वाला है। आगे 500 बेड का किया जायेगा फिर मेडिकल कॉलेज की तैयारी है।

उन्होंने कहा कि इसी तरह बहराइच से श्रावस्ती वाली रोड समाजवादी सरकार ने बनवाई। वहीं बहराइच जिले के 90,000 से अधिक लोग समाजवादी पेंशन से जुड़े। उन्होंने कहा कि भाजपा ने एक काम किया हो तो बताओ।

उन्होंने कहा कि इसी तरह हमने जो सड़कें बनायी है, वह देश के लिए उदाहरण है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे जैसी सड़क किसी सरकार ने नहीं बनायी होगी। इमरजेन्सी में एयरफोर्स के लड़ाकू हवाई जहाज तक इस सड़क पर उतारे जा सकते है।

अखिलेश ने कहा कि हम पर जाति-धर्म के तहत काम करने का आरोप लगा रहे हैं, लेकिन एम्बुलेंस, सड़क से लेकर लैपटॉप, समाजवादी पेन्शन के मामले में हमने बिना भेदभाव के काम किया।

उन्होंने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि पत्थर वाली सरकार से सावधान रहना। आजकल भाषण पढ़ते समय वह विकास की बात कह रही हैं।

हमने उनका लखनऊ में विकास देखा है। नौ साल से हाथी वैसे के वैसे हैं। कम से कम समाजवादी लोगों के पास बताने को तो है। अखिलेश ने कहा कि बुआ ने कई बार भाजपा के साथ रक्षाबन्धन बनाया है। उन्हें पता है कि वह सत्ता से बाहर चल रही हैं।

वहीं उन्होंने कहा कि हमने कांग्रेस से गठबन्धन करके कन्फ्यूजन खत्म करने का काम किया है। यह दो कुनबों का नहीं ये दो युवा नेताओं का गठबन्धन है, जो प्रदेश और देश की राजनीति को बदलने का काम कर रहे हैं।

अखिलेश ने कहा कि इस मौके पर डॉ. वकार होते तो बहुत अच्छा होता। उम्मीद है कि एक दिन वह इलाज से ठीक होंगे और हमारे बीच होंगे। उन्होंने कहा कि वकार साहब ने हमारी बहुत मदद की।

इसके अलावा यासिर ने भी मंत्री बनकर हमारा बहुत साथ दिया। जो काम और विभाग इन्हें दिया गया, इन्होंने जिम्मेदारी से उसे आगे बढ़ाया। हमें इनके काम से खुशी है।

अखिलेश ने कहा कि इसके साथ ही अधिकारी भी कहते हैं कि यासिर समझदार और जानकारी रखने वाले मंत्री हैं। बिजली विभाग में इन्होंने हमारे साथ लगातार काम किया।

केन्द्र के मंत्री भी इन्हें उलझा नहीं सके। कई बार दूसरे तरह से आंकड़े दिये, लेकिन यासिर ने इसे भी बेहतर तरीके से देखा। उन्होंने कहा कि यासिर का बस वाला विभाग बहुत बड़ा है।

आने वाली समय में यह विभाग हमारी सरकार बनने पर सरकारी बसों में महिलाओं को आधा किराया करेगा। उन्होंने लोगों से सपा को जिताने की अपील की।

Related Articles

Back to top button
E-Paper