हाईकोर्ट तय करेगी वकीलों की हड़ताल का फैसला

downloadइंदौर। हाईकोर्ट बार एसोसिएसन के उपाध्यक्ष रितेश इनानी से मारपीट के मामले में आरोपी को गिरफ्तार नहीं करने के चलते वकीलों ने पिछले दिनों यहां एक दिनी हड़ताल और विरोध प्रदर्शन किया वहीं कल वरिष्ठ वकीलों ने आगे हड़ताल से इंकार कर दिया जबकि आज दोपहर में हाईकोर्ट में बैठक होगी और तय होगा कि आगे हड़ताल करें या नहीं। इस बीच उपाध्यक्ष इनानी ने इस्तीफा भी दे दिया। जिला कोर्ट, हाईकोर्ट, कलेक्टोरेट, रजिस्ट्रार कार्यालय सभी जगह वकीलों ने कल भी काम नहीं किया।

बता दें बीते दिनों एसोसिएशन के उपाध्यक्ष इनानी के साथ मारपीट हो गई थी। वकीलों ने पुलिस में शिकायत कर आरोपी को जल्द पकड़नें की मांग की मगर आरोपी अब तक नहीं पकड़ा गया। इससे वकील नाराज हो गए और सोमवार को हड़ताल के बाद मंगलवार को भी काम नहीं किया। हाईकोर्ट, जिला कोर्ट, रजिस्ट्रार कार्यालय और कलेक्टर कार्यालय में कल काम बंद रखा जिससे लोग परेशाान हुए। आज दोपहर में हाईकोर्ट बार एसोसिएशन वकीलों की बैठक होगी और यह तय होगा कि हड़ताल आगे होगी या नहीं। वकीलों में दो फाड़ भी हो गई है। जूनियर वकील हड़ता के पक्ष में हैं जबकि सीनियर हड़ताल नहीं चाहते हैं। आज की बैठक में वकीलों के बीच आपसी मतभेद हो सकते हैं। इधर तुकोगंज थाना प्रभारी कार्रवाई को लेकर हाईकोर्ट में रोजनामचा लेकर उपस्थित होंगे। पिछले दिनों भी वे कोर्ट के समक्ष उपस्थित हुए थे। मगर कोई जवाब नहीं दे पाए। थाना प्रभारी पर लापरवाही का आरोप लगाया गया है। धारा 307 लगने के बाद भी आरोपी को छोड़ दिया गया।

वकील लम्बे समय से प्रोटेक्शन एक्ट की मांग को लेकर आन्दोलनरत हैं। जब भी किसी वकील के साथ मारपीट व बदसलूकी जैसी घटनाएं होती है तो वकील इस एक्ट की मांग को लेकर आक्रोशित हो जाते हैं और विरोध प्रदर्शन करते हैं। सरकार ने प्रोटेक्शन एक्ट के लिए फिलहाल कोई योजना नहीं बनाई है। पिछले वर्षों में शहर में वकीलों से मारपीट की कई घटनाएं हो चुकी है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper