Wednesday , October 17 2018

आपके रास्ते में कोई बड़ी रुकावट आ जाए तो आप क्या करेंगे?

अगर आपके रास्ते में कोई बड़ी रूकावट आ जाए तो आप क्या करेंगे . पहला और सबसे आसान विकल्प ये हैं कि आप अपना रास्ता बदल लेंगे. लेकिन दूसरा तरीका ये हैं कि आप उस समस्या का समाधान निकालकर लगातार आगे बढ़ते रहें. इसका सबसे अच्छा उदाहरण है चीन और जापान के ये 2 Videos. ये वीडियो वैसे तो कई वर्ष पुराने हैं लेकिन इन्हें देखने का नज़रिया हमेशा नया हो सकता है . आप इन्हें Engineers का करिश्मा भी कह सकते हैं . 

पहला वीडियो चीन के Chong-Qing इलाक़े का है . जहां एक 19 मंजिला इमारत को एक सुरंग में बदल दिया गया. चीन के इस इलाक़े में जब Light Train Service शुरू की जा रही थी, तब इस रेलवे ट्रैक के रास्ते में एक 19 मंज़िला इमारत आ गई, लेकिन रेल लाइन बिछाने के लिए इस Building को गिराया नहीं गया..बल्कि इस इमारत की छठी और आठवीं मंज़िल को ही रेलवे स्टेशन में बदल दिया गया . Engineers चाहते तो सरकार की मदद से इस इमारत को बड़े आराम से गिरा सकते थे और अपने काम को आराम से अंजाम दे सकते थे, लेकिन Engineers ने ऐसा नहीं किया . जिसके पीछे की बड़ी वजह इस इलाके की आबादी है .

Chong-Qing इलाक़े में आबादी का घनत्व बहुत ज्यादा है, और यहां छोटे से इलाके में करीब 5 करोड़ लोग रहते हैं . ऐसे में अगर ये बिल्डिंग गिराई जाती तो इमारत के लोगों को दूसरी जगह बसाना पड़ता, और लोगों को बहुत तकलीफ होती. इसलिए इंजीनियर्स ने इस इमारत के बीच में ही एक Rail Track बिछा दिया . 

Engineers के प्रयास की वजह से इमारत में रहने वाले लोगों को अपना खुद का रेलवे स्टेशन मिल गया , इस स्टेशन का नाम है Liziba . इस इमारत में रहने वाले लोग इसी स्टेशन से ट्रेन का सफर करते हैं. हैरानी की बात ये है कि ये ट्रेन लोगों के घरों के बीच से होकर गुजरती है, लेकिन इसकी आवाज़ से किसी को परेशानी नहीं होती. इसके लिए ट्रेन में रबर के टायर लगाए गये हैं जिसकी वजह से जब ट्रेन इमारत से होकर गुज़रती है तो आवाज़ ना के बराबर हो जाती है. ये लगभग वैसी ही आवाज़ होती है, जितनी घरों में इस्तेमाल होने वाली washing machine से आती है. इस तरह शोर की समस्या का भी समाधान हो गया.

इसके अलावा दूसरा वीडियो जापान के Osaka शहर का है जहां 16 मंज़िल की एक इमारत के बीच, एक हाइवे गुज़र रहा है . इस इमारत का नाम है GateTower Building.. इसकी पांचवी और सातवीं मंजिल के बीच से एक हाइवे निकाला गया है . इस मामले में इमारत के मालिक और हाइवे Authority के बीच एक समझौता हुआ जिसमें ये तय हुआ कि इमारत के बीच से हाइवे को रास्ता दिया जाएगा . और इसके बदले में जापान की हाइवे Authority ….इमारत के मालिक को हर साल किराया देगी . कुल मिलाकर ये वीडियो उन लोगों को नई प्रेरणा दे सकते हैं जो अक्सर ये कहते हैं कि रूकावट के लिए खेद है . अगर आपका लक्ष्य…. किसी काम को पूरा करना है…. तो फिर रूकावट आपका रास्ता नहीं रोक सकती.

E-Paper

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com