कहीं आपका भी फेसबुक अकाउंट हैक तो नहीं ? ऐसे बचें इस आफत से

 अगर आप भी फेसबुक (Facebook) यूजर हैं तो आपको सावधान हो जाना चाहिए. दुनिया की इस बड़ी और सुरक्षित मानी जाने वाली सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक (Facebook) भी हैकरों के हमले का शिकार हुई है. कंपनी ने खुद इस हैकिंग के बारे में बताया है. उसका कहना है कि हैकरों ने करीब 5 करोड़ यूजर के डाटा में घुसपैठ की. ये वे यूजर हैं जिन्‍होंने अपने फेसबुक खाते से लॉगआउट नहीं किया है. मोबाइल, लैपटॉप या फिर डेस्‍कटॉप पर उनका फेसबुक अकाउंट खुला हुआ है और वे गाहे-बगाहे उसे देखते रहते हैं. कहीं आपका भी  फेसबुक अकाउंट हैक तो नहीं ? ऐसे बचें इस आफत से

कैसे हुई हैकिंग
हैंकर फेसबुक के ‘एक्सेस टोकन’ चुराकर उसके सर्वर में घुसे थे. यह हमला 25 सितंबर को हुआ और कंपनी को कानोंकान खबर भी नहीं हुई. हिन्‍दुस्‍तान टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक हैकर एक-एक कर 5 करोड़ यूजर के अकाउंट तक पहुंच गए. एक्‍सेस टोकन प्रकार की डिजिटल की होती है. फेसबुक के प्रोडक्ट मैनेजमेंट के उपाध्यक्ष गे रोसेन ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा, ‘यह स्पष्ट है कि हमलावर फेसबुक का कोड भेदने में सफल रहे.’ फेसबुक के मुख्य कार्यकारी मार्क जुकरबर्ग ने कहा कि इंजीनियरों ने मंगलवार को इस खामी का पता लगाया गुरुवार रात तक इसे ठीक कर लिया गया.

जुकरबर्ग ने कहा, ‘हमें पता नहीं है कि क्या किसी अकाउंट का वास्तव में गलत इस्तेमाल हुआ है. यह गंभीर मुद्दा है. फेसबुक ने ऐहतियातन अस्थायी तौर पर ‘व्यू एज’ फीचर को हटा लिया है. यह फीचर एक प्राइवेसी टूल (निजता उपकरण) है जो यूजर को देखने की अनुमति देता है कि उसका अपना प्रोफाइल किसी अन्य को कैसा दिखेगा.’ कहीं आपका भी  फेसबुक अकाउंट हैक तो नहीं ? ऐसे बचें इस आफत से

कैसे बचें हैंकिंग से

  1. हैंकिंग से बचने के लिए यूजर को पासवर्ड रीसेट करने की जरूरत नहीं है. लेकिन उन्‍हें टोकन अकाउंट रीसेट करने होंगे ताकि हैकिंग न हो सके. 
  2. जिन लोगों को फेसबुक अकाउंट लॉगइन करने में दिक्‍कत है वे हेल्‍प सेंटर की मदद लें. 
  3. फेसबुक यूजर को अपने सभी अकाउंट से लॉग आउट करना चाहिए और फिर लॉगइन करना चाहिए.
  4. वे अपना पासवर्ड बदलकर भी हैकिंग से बच सकते हैं. इसके लिए उन्‍हें टू स्‍टेप वेरिफिकेशन टूल का इस्‍तेमाल करना होगा.
  5. यूजर प्राइवेसी सेटिंग में जाकर अपने ताजा पोस्‍ट और फोटो देख सकते हैं क्‍योंकि फिलहाल व्‍यू एज फीचर डिसेबल कर दिया गया है

Related Articles

Back to top button
E-Paper