दिल्ली विश्वविद्यालय में राष्ट्रवादी विचारों की जीत: भाजपा

duभोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को मिली भारी जीत से स्पष्ट है कि युवाओं में राष्ट्रवादी विचारों का प्रबल प्रवाह है। देश का युवा देश के साथ नकारात्मक राजनीति करने वालों को नकार रहा है। इस परिणाम ने संदेश दिया है कि भारत का भविष्य सशक्त राष्ट्रवाद के हाथों में है। सभी विजयी युवाओं को कोटिश: शुभकामनायें और बधाईयां।पार्टी के प्रदेश महामंत्री विष्णुदत्त शर्मा ने दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्र संघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की जीत को राष्ट्रवादी विचारों की जीत बताया है। उन्होंने कहा कि युवा विकास और सुशासन की राजनीति का पक्षधर है। मोदी सरकार ने मेक-इन-इंडिया, स्टार्ट-अप जैसी कौशल विकास की योजनाओं का क्रियान्वयन कर युवाओं को लाभ पहुंचाया है। इन योजनाओं से रोजगार के नये अवसर सृजित हुए हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं सचिव जैसे अहम पदों पर एबीवीपी की जीत ने मोदी सरकार की रोजगारोन्मुखी पहल पर अपनी मोहर लगा दी है।उन्होंने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय के युवाओं ने आप पार्टी की छात्र इकाई एवं एनएसयूआई की नकारात्मक राजनीति को खारिज करते हुए मोदी सरकार के विकास की राजनीति का समर्थन किया है। दिल्ली में केजरीवाल सरकार झूठ, फरेब और युवाओं को भ्रमित करने का काम कर रही है वहीं कांग्रेस विरोध के लिए विरोध की राजनीति करने पर आमादा है। कांग्रेस का एकमात्र काम मोदी सरकार का विरोध करना रह गया है।उन्होंने कहा कि आप-कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टियों ने युवाओं को भ्रमित करने के भरसक प्रयास किये लेकिन युवाओं ने इन पार्टियों ने नकारात्मक, गरीब और विकास विरोधी विचारों को दरकिनार करते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रवादी विचार और मोदी सरकार के विकास की राजनीति का साथ दिया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper