योगी ने डाक्टरों को पिलाई कड़वी दवा, कहा- जांच के नाम पर लूट बर्दाश्त नहीं

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को डाक्टरों को कड़वी दवा पिलाई। यहां किंग जार्ज मेडिकल कालेज में 56 वेंटीलेटर यूनिट का उद्घाटन काने पहुंचे योगी ने डाक्टरों न केवल खरी-खरी सुनाई बल्कि उन्हें आइना भी दिखा दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जांच के नाम पर गिरोह बनाकर काम किया जा रहा है। मरीजों से जांच के नाम पर डाक्टरों की लूट को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सही है कि प्रदेश में पांच लाख डाक्टरों की कमी है। सरकार इस कमी को पूरा करने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि पांच सालों में प्रदेश में एम्स स्तर के छह संस्थान और 25 मेडिकल कालेज स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि डाक्टरी का पेशा बहुत संवेदनशील होता है।

डाक्टरों को मरीजों के साथ संवेदनशील होना चाहिए। डाक्टर सही तरीके से मरीज से बात ही कर ले तो उसकी आधी बीमारी ठीक हो जाता है। योगी ने कहा मरीज बड़ी उम्मीद के साथ डाक्टर के पास आता है और यदि उसके साथ पैसे का खेल खेला जाए तो ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि डाक्टरों को पैसे के लिए सेवा के लिए काम करना चाहिए।

सेवा में पैसा तो नहीं मिलता पर दुआ मिलती है। दुआ बहुत असरकारी होती है। डॉक्टरों को सख्त संदेश देते हुए योगी ने कहा कि डॉक्टरी जांच के नाम पर होने वाली लूट बर्दाश्त नहीं होगी और सरकारी डॉक्टर निजी प्रैक्टिस बंद कर दें।

वेंटिलेटरों का उद्घाटन करते हुए योगी ने कहा कि गरीब बहुत विश्वास के साथ अस्पताल आते हैं, लेकिन अस्पतालों में पूरे वेंटिलेटर काम नहीं कर रहे होते हैं। यह ठीक नहीं है। सरकार का लक्ष्य समाज के अंतिम व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना है। दवाओं को सस्ता करने की जरूरत है।

डाक्टरों को इस ओर ध्यान देना होगा कि मरीज को सस्ती दवा कैसे मिले। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह मेडिकल कॉलेजों में फैकल्टी की कमी को दूर करने का प्रयास करने के साथ हीमेडिकल टेक्नॉलजी को भी मजबूत करेंगे।

उन्होंने कहा कि एमबीबीएस डाक्टरों को कम से कम दो साल गांवों में सेवा करनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार कोई कानून बनाए, नियम बनाए उससे अच्छा है कि डाक्टर खुद गांवों में जाकर लोगों का इलाज करें।

हर शख्स सिफारिश करता है कि वह शहर में रहे, मेडिकल कॉलेज से पैसा लेकर प्राइवेट में जाकर प्रैक्टिस कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह सरासर गलत है।

इसीबीच मुख्यमंत्री ने पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार पर निशाना साधा। योगी ने कहा कि पिछली सरकार में अच्छे डॉक्टर सैफई और कन्नौज भेज दिए जाते थे। सपा सरकार ने गोरखपुर से अच्छे डाक्टर तो सैफई भेज दिए और वहां बूचड़खाने खोल दिए। धीरे-धीरे सब ठीक किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper