स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर भारत-नेपाल सीमा पर हाई अलर्ट

soबहराइच। स्वतंत्रता दिवस की तैयारियां अंतिम दौर में हैं। भारत-नेपाल सीमा के सभी थानों को अलर्ट कर दिया गया है। खुली सीमा पर 24 घंटे गश्त के निर्देश दिये गये हैं। एसएसबी ने भी सीमा पर आने-जाने वालों की सघन तलाशी शुरू की है। सीसीटीवी कैमरे व डागस्क्वायड की भी मदद ली जा रही है। पुलिस महानिरीक्षक ने नेपाल सीमा से सटे सभी जिलों के पुलिस प्रमुखों को पत्र भेजकर सघन चौकसी बरतने के निर्देश दिये हैं। पुलिस महानिरीक्षक का पत्र मिलने के बाद एसपी सालिक राम वर्मा ने नेपाल सीमा से सटे नवाबगंज, रुपईडीहा, मोतीपुर, सुजौली व मुर्तिहा थाना क्षेत्रो समेत पूरी सीमा पर एलर्ट घोषित कर दिया है। एसपी ने बताया कि खुली सीमा पर 24 घंटे गश्त के निर्देश दिये गये हैं। उधर एसएसबी ने भी स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर सीमा पर चैकसी बढ़ा दी है। एसएसबी सातवीं बटालियन के सहायक सेनानायक विपिन कुमार शर्मा ने बताया कि नेपाल से आने जाने वालों की न सिर्फ तलाशी ली जा रही है। बल्कि उनका ब्यौरा भी चेकपोस्ट पर दर्ज किया जा रहा है। सीसीटीवी कैमरे से भी सीमा पर नजर रखी जा रही है। रुपईडीहा आउट पोस्ट पर तैनात एसएसबी के जवान डाक स्क्वायड की मदद से भी सीमा पर सघन तलाशी ले रहे है। सार्वजनिक स्थलों पर भी रहेगी नजर
एसपी ने बताया कि रेलवे स्टेशन, बस अड्डा, सिनेमाहाल, जिला अस्पताल समेत सार्वजनिक स्थानों पर अराजक तत्वों पर नजर रखने के लिए सिविल डे्रस में पुलिसकर्मियों को तैनात रहने के निर्देश दिए गए हैं। पेट्रोलिंग भी तेज की गई है।
बांग्लादेशी घुसपैठियों को खदेड़ने पर बिफरे कांग्रेसी विधायक, अध्यक्ष ने बाहर निकाला
गुवाहाटी। असम विधानसभा के बजट सत्र के अंतिम दिन आज शनिवार को कांग्रेस के दो विधायकों के विधानसभा अध्यक्ष रंजीत दास ने विस की कार्यवाही में बाधा डाल रहे दो कांग्रेसी विधायकों को मार्शल लगाकर सदन से बाहर कर दिया।
उल्लेखनीय है कि आज विधानसभा में बांग्लादेशी घुसपैठियों को बाहर खदेड़ने के मुद्दे पर चर्चा के दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष में जमकर तीखी नोंकझोंक आरंभ हो गई। दोनों ओर से निजी तौर पर आरोप होने लगे। इसी बीच कांग्रेसी विधायक शेरमान अली और अब्दूल कलाम रशिद अध्यक्ष के आसन के पास पहुंचकर नारेबाजी करने लगे। जिसके बाद अध्यक्ष ने मार्शल के जरिए दोनों विधायकों को सदन से बाहर करवाया दिया। उल्लेखनीय है कि विरोध करते-करते शेरमान अली जमीन पर लेट गए।
बाद में अध्यक्ष ने बांग्लादेशी मुद्दे पर दोनों ओर से हुई चर्चा को विधानसभा की कार्यवाही से बाहर करने का आदेश दिया। अध्यक्ष ने जैसे ही शेरमान के बयान को सदन की कार्यवाही से बाहर करने को कहा, वैसे ही कांग्रेसी विधायक शोर मचाते हुए सदन के आसन के समीप पहुंच गए। बजट सत्र के आज अंतिम दिन बांग्लादेशी मुद्दे पर हुई चर्चा के दौरान सदन की कार्यवाही दो बार बाधित हुई।

Related Articles

Back to top button
E-Paper