उज्जैन के डॉक्टर्स ने दी नई जिंदगी ,जहरिले कोबरा का एक घंटे तक चला ऑपरेशन

इंसान हो या जानवर जिंदगी दोनो के लिए अनमोल है। दुर्घटना होने पर जहां इंसान, इंसान की मदद नहीं करता वहां एक जानवर को कौन पूछता है? लेकिन उज्जैन के लोगों ने इस धारणा को गलत साबित कर दिया है एक घायल जंतु की ना सिर्फ मदद कर बल्कि उसकी जान बचाने के लिए चिकित्सा मुहैया कर। 

 उज्जैन के डॉक्टर्स ने दी नई जिंदगी ,जहरिले कोबरा का एक घंटे तक चला ऑपरेशन

 

उज्जैन शहर मेें पहली बार जहरीले कोबरा सांप को बचाने के लिए एक घंटे तक डॉक्टरों ने जटिल ऑपरेशन किया। सड़क पर कार से कुचलने और सरियों से टकराने से सांप के शरीर में दो अलग-अलग स्थानों पर दो और पांच इंच के कट लग थे। सांप को 25 टांके लगाए गए और मरहम-पट्टी की गई। सांप की हालत देख उसका तुरंत ऑपरेशन करने का फैसला लिया गया। कोबरा का ऑपरेशन एक पशू चिकित्सक पवन महेश्वरी और पांच सहकर्मियों ने मिलकर किया है। इस तरह का ऑपरेशन शहर में पहली बार किया गया जिसे लेकर डॉक्टरों में संतोष है। 
सांप का ऑपरेशन

सांप का ऑपरेशन
पशु चिकित्सक पवन माहेश्वरी के मुताबिक ये कोबरा बहुत ही जहरीला है। उसे गहरे घाव लगे हुए है। डीप इंजरी आने की वजह से टांके केवल उपरी स्कीन पर ही नहीं बल्कि भीतरी भाग में भी लगाए गए हैं। पूरी तरह से स्वस्थ्य होने में एक हफ्ते से भी ज्यादा का वक्त लग सकता है। लेकिन जब तक कोबरा पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाता उसे जंगल में नहीं छोड़ा जाएगा।

वन विभाग की टीम सात दिन तक उसकी निगरानी करेगी। तीन दिन तक उसे खाने के लिए कुछ नहीं दिया जाएगा। इसके बाद थोड़ा खाना देंगे। एक सप्ताह बाद उसे जंगल में छोड़ देंगे

Related Articles

Back to top button
E-Paper