विश्व पर्यटन दिवस … धुमने जा रहे है तो जाइए इस खूबसूरत जगह को देखिए…

 27 सितंबर को पूरी दुनिया में वर्ल्ड टूरिज्म डे (विश्व पर्यटन दिवस) को पूरे उत्साह के साथ मनाया जा रहा है. इस दौरान देश में सरकारी और गैर-सरकारी संगठनों ने देश भर में अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया है. 1980 में विश्व पर्यटन संगठन ने 27 सितंबर को वर्ल्ड टूरिज्म डे (विश्व पर्यटन दिवस) के रुप में मनाने का निर्णय लिया था. इसको मनाने का पहला आईडिया नाइजीरियाई नागरिक अमाडुवा अदिग्बी का था. वर्ल्ड टूरिज्म डे का आधिकारिक रंग नीला हैइस बार का ग्लोबल थीम ''टूरिज्म एंड ग्लोबल ट्रांसफॉर्मेशन''

इस बार का ग्लोबल थीम ”टूरिज्म एंड ग्लोबल ट्रांसफॉर्मेशन” 

पूरी दुनिया में टेक्नोलॉजी के बदलते स्वरुप और उसकी वजह से सूचनाओं के प्रसार के बदलते तरीके ने हमारे जीवन को काफी प्रभावित किया है. इसे देखते हुए विश्व पर्यटन संगठन(UNWTO) ने इस साल के टूरिज्म डे का ग्लोबल थीम ”टूरिज्म एंड ग्लोबल ट्रांसफॉर्मेशन” रखा हैं.  

‘भारत’ में भी वर्ल्ड टूरिज्म डे की धूम

पूरी दुनिया को अपने अाध्यात्म,सांस्कृतिक और ऐतिहासिक धरोहरों के लिए आकर्षित करने वाले देश ‘भारत’ में भी विश्व पर्यटन दिवस काफी धूम-धाम से मनाया जा रहा है. इस दौरान राजधानी दिल्ली समेत देश के अलग-अलग भागों में अनेक कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को पर्यटन दिवस के मौके पर लोगों को जानकारियां सुलभ कराई जा रही हैं और उन्हें जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है. इस बार का ग्लोबल थीम ''टूरिज्म एंड ग्लोबल ट्रांसफॉर्मेशन'' 

इंडिया गेट के पास ‘पर्यटन पर्व’  का आयोजन

राजधानी दिल्ली में इंडिया गेट के पास ‘पर्यटन पर्व’ प्रदर्शनी का आयोजन भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय ने किया है. 10 दिनों के इस कार्यक्रम की शुरुआत 16 सितंबर को हुई थी जिसका 27 सितंबर को समापन होगा. इसमें पूरे देश के विभिन्न राज्यों के अनेक स्टाल लगाए गए हैं. जिसके माध्यम से पर्यटकों को देश के अनेक राज्यों के पर्यटन स्थलों की जानकारियां सुलभ कराई जा रही हैं. ”अतिथि देवो भव” की परिकल्पना वाले इस देश में बड़े पैमाने पर विदेशी पर्यटक घूमने आते हैं. जिसकी वजह से भारत में रोजगार के अनेक अवसर भी बढ़े हैं.

देश की आमदनी का बड़ा हिस्सा आता है टूरिज्म से
इसके साथ ही प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तरीके से 41 लाख लोगो को ये रोजगार के अवसर देता है. वहीं देश में मेडिकल टूरिज्म का भी बड़े पैमाने पर विकास हो रहा है. माना जा रहा है 2020 तक यह 7 बिलियन तक पहुंचेगा. पर्यटन के लिए भारत को चुनने वाले पूरी दुनिया के लोग भारत में एयर कनेक्टिविटी की बेहतर होती व्यवस्था की सराहना करते हैं. लेकिन देश में अभी भी पर्यटन के लिए बेहतर सुविधाओं का अभाव है और कई क्षेत्र अब तक विकसित नही हो पाएं हैं. फिलवक्त भारत सरकार ने पर्यटकों की सुविधा के लिए अनेक देशों के नागरिको के लिए ‘वीजा ऑन अराइवल’ की सुविधा दे रखी है. वहीं विदेशी पर्यटकों के साथ होने वाली धोखाधड़ी और अपराध पर लगाम लगाने के लिए अनेक कदम उठाएं हैं.

Related Articles

Back to top button
E-Paper